मिर्जापुर, रोसड़ा, (समस्तीपुर), बिहार

सूचना-प्रसारण

* रामेश्वर लक्ष्मी महतो टीचर्स ट्रेनिंग काॅलेज मिर्जापुर, रोसड़ा (समस्तीपुर) की आधिकारिक वेबसाईट पर आपका हार्दिक स्वागत है।

*बी० एड्० कोर्स, सत्र 2017-19 में नामांकित छात्राध्यापकों एवं छात्राध्यापिकाओं को सूचित किया जाता है कि ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय, दरभंगा के आदेशानुसार दिनांक 01-08-2017 से आपका वर्गारम्भ हो चुका है। महाविद्यालय में नियमित उपस्थित होकर अपना प्रशिक्षण करें।

* बी० एड्० कोर्स, सत्र 2017-19 के छात्राध्यापक एवं छात्राध्यापिकाओं को सूचित किया जाता है कि दिनांक 11-08-2017 एवं 12-08-2017 को उनके प्रथम एवं द्वितीय वर्ष का शिक्षण विषय आबंटित किया जाएगा।

* इस महाविद्यालय के बी० एड्० विभाग में कुछ सहायक प्राध्यापकों का स्थान रिक्त है। उक्त रिक्त स्थानों को भरने के लिए पूर्व में प्रकाशित विज्ञप्ति में निर्धारित आवेदन की समय-सीमा विस्तारित की गई है। ईच्छुक योग्य आवेदक अपना रिज्यूम एवं अन्य दस्तावेज हमारी संस्थान को डाक अथवा ईमेल पर भेज सकते हैं। आवेदन की अन्तिम-तिथि एवं साक्षात्कार की तिथि शीघ्र ही प्रकशित की जाएगी।

आगामी-कार्यक्रम

◄ Prev

December 2017

Next ►
MonTueWedThuFriSatSun

1


2


3


4


5


6


7


8


9


10


11


12


13


14


15


16


17


18


19


20


21


22


23


24


25


26


27


28


29


30


31



E.R.C., N.C.T.E.,भुवनेश्वर से मान्यता प्राप्त

ललित नारायण मिथिला विश्वविधालय, दरभंगा, बिहार से सम्बद्ध

रामेश्वर लक्ष्मी महतो टीचर्स ट्रेनिंग काॅलेज, मिर्जापुर, रोसड़ा, जिला- समस्तीपुर, बिहार, जो कि रोसड़ा शहर से शिवाजीनगर मार्ग पर करीब 02 कि0मी0 दूर स्थित मिर्जापुर गाॅंव के प्राकृतिक गोद में अवस्थित है। एक छोटा सा किन्तु सुन्दर और समृद्ध यह रोसड़ा शहर बूढ़ी-गंडक नदी के किनारे बसा है एवं समस्तीपुर एवं बेगूसराय जिला की सीमा पर अवस्थित यह केन्द्रिय शहर सड़क एवं बड़ी रेल-लाईन से अन्य सभी शहरों से जुड़ी है। अद्यतन समय में शिक्षा रोजगारोन्मुखी दिशा की ओर व्यापक रूप से लोगों के स्वावलंबन का पर्याय बन गया है एवं प्रत्येक परिवार के भरण-पोषण हेतु यह एक आधार है। यह शिक्षक प्रशिक्षण महाविद्यालय इसी दिशा में उठाया गया एक कदम है जो कि समाज में व्याप्त शैक्षिक बेरोजगारों की समस्या से जूझते हुए उसके आर्थिक उन्नयन हेतु प्रतिबद्ध है। यह संस्थान समाज के युवाओं के सम्पुर्ण व्यक्तित्व का सर्वोन्मुखी विकास करते हुए उन्हें शारीरिक, सामाजिक, नैतिक, आर्थिक एवं आध्यात्मिक रूप से योग्य एवं सबल बनाते हुए सभी मौजूदा तकनीकों और आयामों के साथ प्रशिक्षित कर समाज को एक कुशल, जिम्मेवार एवं योग्य शिक्षक समर्पित करने हेतु प्रतिबद्ध है।

यह संस्थान समाज के शिक्षित बेरोजगार युवावर्ग की बेरोजगारी के उन्मूलन हेतु एक सम्यक प्रयास है। एन० सी० टी० ई० एवं विश्विद्यालय द्वारा निर्धारित सभी मानदंडों को सर्वथा पूर्ण करती यह संस्थान प्रतिवर्ष समाज में शारीरिक, मानसिक, सामाजिक, नैतिक, सांस्कृतिक एवं अन्य आयामों से परिपूर्ण सर्वांगीण विकसित अध्यापक समर्पित करते हुए एक अहम् भूमिका अदा करती है।

Enquiry Form



संदेश-प्रभाग

(शीघ्र अद्यतन किया जाएगा)

3 visitors online now
1 guests, 2 bots, 0 members